Skip to main content

इबादत

तल-अल-अराफ़ात पर तेरी इबादत कुफ़्र है,
जो तूने ख़ुदा को दिल के मसनत पर ना बिठाया

Comments

amritwani.com said…
bahut sundar rachana

shekhar kumawat


http://kavyawani.blogspot.com/