Skip to main content

ज़ाहिद का दर्द

शा`इर क्या जाने ज़ाहिद का दर्द,
शराब की रिन्दगी मस्जिद के
आब ए सफ़ा में धो जाता है,
मस्जिद को कौन साफ़ करेगा?

Comments