Skip to main content

किस्सों की झोली

हर मन्ज़र क़ैद करती, मेरी किस्सों की झोली|
कुछ भूलने न देती, मेरी किस्सों की झोली|
उम्र बढ़ेगी, दोस्तों का साथ छूटेगा जब,
तब यही साथ देगी, मेरी किस्सों की झोली||

यह कृति उमर बहुभाषीय रूपांन्तरक की मदद से देवनागरी में टाइप की गई है|

Comments