Skip to main content

कंजूस

पैसा पडा है बैंक में, आठ टक्का ब्याज है |
रामेश पाहे कंजूस को, खाता रोटी‍ प्याज है ||

यह कृति उमर बहुभाषीय रूपांन्तरक की मदद से देवनागरी में टाइप की गई है|

Comments