Wednesday 3 August 2011

शाहदत

शा'यरों की शाहदत पीढ़ियों से यही है:
हम ज़माने से नहीं, ज़मान्ना हम से है

No comments:

Bookmarking

Bookmark and Share