Skip to main content

पराये की पीड़ा

कभी पराये की पीड़ा भी अपनी हुआ करती थी।
आज जो मिट गया है दर्द, अपने भी पराये हो गए।।

Comments